Meri Bitiya

Monday, Jan 18th

Last update02:57:01 PM GMT

मेरी बिटिया डॉट कॉम अगर आपको पसंद हो, आप इस पोर्टल के लिए सुझाव, समाचार, निर्देश, शिकायत वगैरह भेजने के इच्‍छुक हों तो meribitiyakhabar@gmail.com पर हम आपकी प्रतीक्षा कर रहे है.

Advertisement

पत्रकारों के घर पुलिसवालों की घेराबंदी, लगायी गयी मुखबिरों की टोली

: लाठीचार्ज की खबर लेने वाले पत्रकारों की खबर लेने पर आमादा है देवरिया की पुलिस : निकाय चुनाव में पत्रकारों, वकीलों और नेताओं पर हुई लाठीचार्ज की खबर छापने पर पुलिस कप्‍तान खफा : गौरव कुशवाहा की खोज में सीओजी टीम लगायी गयी :

मेरीबिटिया संवाददाता

देवरिया : मतगणना के दौरान पत्रकारों पर बर्बरतापूर्ण लाठीचार्ज की घटना के खिलाफ अभी तक पुलिस द्वारा पीड़ित पक्ष का एआईआर दर्ज नहीं किया गया है। देवरिया के पत्रकारों इस मामले में प्रशासन से लाठीचार्ज के दोषियों पर मुकदमा दर्ज करने को लेकर अभी तक आंदोलित हैं। उधर खबर है कि यहां की पुलिस द्वारा आज तक इस सम्बंध में कोई कार्यवाही तो नही ही की है, बल्कि घायल चन्द्र प्रकाश पांडेय समेत उनके आंदोलन में शामिल सभी सहयोगी पत्रकारों पर पुलिसिया धौस जमाकर फर्जी मुकदमों में फसाने की घमकी दी जा रही हैं।

देवरिया में पत्रकारों पर बर्बर लाठीचार्ज कराने वाली पुलिस के वर्तमान पुलिस अधीक्षक राकेश शंकर से जुड़ी खबरों को देखने के लिए निम्‍न लिंक पर क्लिक कीजिए:-

राकेश शंकर

यहाँ तक कि पुलिस लाठीचार्ज में घायल पत्रकार के कुछ सहयोगियों के घर के बाहर एसओजी पुलिस के साथ मुखबिरों को तैनात कर पत्रकारों को किसी तथाकथित जबरन उठवाने और फर्जी मुकदमें में फसाने का षड़यंत्र रच रही हैं। देवरिया पुलिस लंबित मामलों को दरकिनार कर पत्रकारों को आतंकित कराने के लिए नए नए हथकंडे अपनाने में लगी है। इतना ही नहीं, खबर तो यह तक है कि पत्रकारों के घर और आसपास के मोहल्‍लों में भी पुलिस ने अपने मुखबिरों की टोलियां तक लगा दी हैं। सूत्र बताते हैं कि इन टोलियों में अपराधी प्रवृत्ति के वे लोग शामिल हैं, जिन्‍हें पुलिस का प्रश्रय मिला होता है। बताते हैं कि इस तरह की आपराधिक हरकतों का मकसद सम्‍बन्धित लोगों को डराना और उन्‍हें भयाग्रस्‍त करना ही होता है।

देवरिया से जुड़ी खबरों को देखने के लिए निम्‍न लिंक पर क्लिक कीजिए:-

देवारण्‍य

उधर पुलिस की इस कवायद को लेकर प्रमुख न्‍यूज पोर्टल मेरी बिटिया डॉट कॉम के संवाददाता गौरव कुशवाह ने मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, प्रदेश के पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह और आईजी जो मोहित अग्रवाल और जिलाधिकारी समेत विभिन्‍न सम्‍बन्धित अधिकारियों को ट्वीट और वाट्सऐप पर ऐसी पुलिस की कार्रवाइयों की खबर दे दी है। कहने की जरूरत नहीं कि आपको बता दे कि अगर देवरिया जिले के कुछ पत्रकारों को किसी फर्जी षड्यंत्र या मुकदमें में फसाया गया तो इसकी पूरी जिम्मेदारी देवरिया जिले के वर्तमान पुलिस अधीक्षक राकेश शंकर की होगी।

पत्रकारिता से जुड़ी खबरों को देखने के लिए निम्‍न लिंक पर क्लिक कीजिए:- पत्रकार पत्रकारिता

आईपीएस अफसरों से जुड़ी खबरों को देखने के लिए क्लिक कीजिए:- बड़ा दारोगा

Comments (0)Add Comment

Write comment

busy